Breaking News
अच्छी खबर :- देहरादून के बाद अब विकासनगर में भी खुला पराशर पेथोलॉजी एंड इमेजिंग सेेंटर
नैनीताल में उमड़ी पर्यटकों की भीड़, जगह- जगह लगा लंबा जाम, गुस्साए कारोबारियों ने शुरु किया प्रदर्शन 
पीएम मोदी अदाणी और अंबानी के लिए कर रहे काम – राहुल गांधी
सिनेमाघरों के बाद ओटीटी पर धमाल मचाएगी क्रू, नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई फिल्म
बीते 10 सालों में प्रधानमंत्री ने हर पल-हर क्षण देशवासियों को किया समर्पित – मुख्यमंत्री धामी
राजकोट में टीआरपी गेम जोन में लगी भीषण आग, 12 बच्चों समेत 27 लोगों की मौत
चारधाम यात्रा में विभिन्न व्यवसायियों ने 200 करोड़ से ज्यादा का किया कारोबार
दौडने के बाद जोड़ो में होता है दर्द? हो सकती हैं ये 5 गलतियां
हिमाचल में चल रही कांग्रेस की लहर- धीरेंद्र प्रताप

युवक की पीट-पीटकर की हत्या, आरोपियों की तलाश शुरू

नई दिल्ली। दक्षिण-पश्चिमी जिले के किशनगढ़ थाना क्षेत्र में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। यहां पर कुछ युवकों ने अपने गांव के ही एक युवक को पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। आरोपी पीड़ित को करीब आधा घंटे तक पीटते रहे और उसके लात-घूसों से उसकी शरीर की करीब-करीब हर हड्डी तोड़ दी थी। पीडि़त का कसूर इतना था कि उसने अपने चोरी हुए मोबाइल के बारे में आरोपियों से पूछ लिया था। आरोपियों को लगा कि वह उन्हें चोर बता रहा है। पुलिस टीम ने मात्र 10 घंटे में दो नाबालिगों समेत पांच को गिरफ्तार कर लिया।

वारदात के प्रत्यक्षदर्शी और सिवान, बिहार निवासी रामबाबू मेहतो ने पुलिस को 12 मार्च को शिकायत दी कि वह उसके गांव के लड़के धनंजय, प्रदीप और मनीष कुमार के साथ कटवारिया सराय में किराये पर रहता है। मंगलवार शाम करीब सात बजे सभी कमरे पर थे। उसी समय उसी इमारत में दूसरी मंजिल पर रहने वाला इंदरपाल गाली-गलौच करने हुए नीचे आया और कहने लगा कि मनीष ने उसके कमरे से मोबाइल चुराया है। रामबाबू मेहतो ने कहा कि मनीष ने कोई चोरी नहीं की है तो वह मारपीट करने लगा। तभी इंदरपाल ने अपने साथी शिवम, सौरभ व अन्य को बुलाकर कहा कि आज मनीष जिंदा नहीं बचना चाहिए।

ये मनीष को नीचे गिराकर उसे आधा घंटे तक लात-घूंसों से पीटते रहे। मनीष जब अधमरा हो गया तो आरोपी उसे छोड़कर फरार हो गए। पीसीआर ने उसे सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या का मामला दर्जकर किशनगढ़ थानाध्यक्ष शंभूनाथ, इंस्पेक्टर अमित चौधरी, एसआई धर्मेंद्र, हवलदार योगेश कुमार, विनोद कुमार व अजय कुमार की टीम ने आरोपियों की तलाश शुरू की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top