Breaking News
सीआईएमएस नर्सिंग कॉलेज में नर्सिंग क्वालिटेटिव रिसर्च मेथोडोलॉजी विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का शुभारंभ
आईपीएल 2024- क्वालीफायर-2 मुकाबले में आज सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स होगी आमने- सामने 
चुनाव आयोग की नई पहल, वोटर्स को लुभाने के लिए की रैपिडो, जोमैटो, स्विगी के साथ साझेदारी
पांच चरणों के चुनाव में मोदी की सुनामी देखकर घबरा गए गठबंधन के लोग – मुख्यमंत्री योगी
मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से की चारधाम यात्रा की समीक्षा
तमिलनाडु में गूगल और फॉक्सकॉन साझेदारी में पिक्सल फोन का करेंगे उत्पादन
ऋषिकेश एम्स में महिला चिकित्सक से छेड़खानी के मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित
अब गर्मी में भट्टी नहीं बनेगी आपकी किचन, इसे ऐसे रखें कूल कि मन लगे फुल
केदारनाथ धाम में हेलिकॉप्टर पायलट की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा, लैंडिंग के बाद यात्रियों ने ली राहत भरी सांस  

एसजीआरआर यूनिवर्सिटी में फार्मा अन्वेषण 2024 उत्सव का आयोजन

स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज द्वारा राष्ट्रीय फार्मेसी शिक्षा दिवस पर आयोजित किया गया उत्सव

देहरादून।  श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज द्वारा फार्मा अन्वेषण 2024 उत्सव का आयोजन किया गया।
विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज ने इस अवसर पर आयोजकों को शुभकामनाएं प्रेषित की। कुलपति प्रो. (डॉ.) यशबीर दीवान और रजिस्ट्रार डॉ. अजय कुमार खंडूMh के मार्गदर्शन में, स्कूल ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज ने थीम “समन्वय का लाभ उठाना: राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 के कार्यान्वयन के लिए उद्योग-अकादमिक साझेदारी” के तहत फार्मा अन्वेषण 2024 का सफलतापूर्वक आयोजन किया।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर (डॉ.) यशबीर दीवान न ने स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज के छात्रों और शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजन से छात्रों में उत्साह बना रहता है और वह अपने विषय की विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं।विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ अजय कुमार खंडूरी ने छात्रों को जानकारी देते हुए बताया कि यह उत्सव भारत में फार्मेसी शिक्षा के जनक, प्रोफेसर महादेव लाल श्रॉफ की 122वीं जयंती के अवसर पर फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया, नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित किया गया है। राष्ट्रीय फार्मेसी शिक्षा दिवस (6 मार्च 2024) के अवसर पर, आमंत्रित विशिष्ट अतिथि उत्तराखंड सरकार द्वारा फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया के नामित केंद्रीय परिषद सदस्य डॉ. शिवानंद पाटिल थे। अन्य आमंत्रित अतिथि इंटास फार्मास्यूटिकल लिमिटेड के वरिष्ठ प्रबंधक और कार्यकारी उत्पादन प्रबंधक और मैनकाइंड फार्मा लिमिटेड के क्यूएमएस प्रमुख रहे। साथ ही फार्मास्यूटिकल उद्योग और शिक्षा जगत से कई प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने कार्यक्रम में पहुंचकर छात्रों के सम्मुख अपने विचार साझा किये।

कार्यक्रम में प्रो. दिव्या जुयाल ने फार्मेसी शिक्षा के क्षेत्र में प्रो. एम.एल. श्रॉफ के उल्लेखनीय योगदान पर प्रकाश डाला। प्रोफेसर सुमन विज, निदेशक आईक्यूएसी ने फार्मेसी पाठ्यक्रम में राष्ट्रीय शिक्षा नीति के महत्व पर विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का सफल संचालन डॉ. मनीष मिश्रा, डॉ. आशुतोष बडोला, अजय सिंह बिष्ट, डॉ. सुधाकर कौशिक एवं शफी के टांगरी ने किया।

कार्यक्रम में स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल साइंसेज की डीन प्रोफेसर दिव्या जुयाल, डॉ. सुमन विज डायरेक्टर आईक्यूएसी, डीन रिसर्च डॉ. लोकेश गंभीर, डीन एसबीएएस डॉ अरुण कुमार और डीन एसएमसीएस डॉ. पूजा जैन सहित सभी स्कूलों के डीन एवं छात्र मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top