Breaking News
राजकोट में टीआरपी गेम जोन में लगी भीषण आग, 12 बच्चों समेत 27 लोगों की मौत
चारधाम यात्रा में विभिन्न व्यवसायियों ने 200 करोड़ से ज्यादा का किया कारोबार
दौडने के बाद जोड़ो में होता है दर्द? हो सकती हैं ये 5 गलतियां
हिमाचल में चल रही कांग्रेस की लहर- धीरेंद्र प्रताप
सीआईएमएस कॉलेज में क्वालिटेटिव नर्सिंग रिसर्च का दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का सफल समापन
पंजाब में भी आप पार्टी ने खोली भ्रष्टाचार की इंडस्ट्री- मुख्यमंत्री धामी
जानलेवा ना बने निर्दोष जनता के लिए
चारधाम यात्रा- शासन ने दो अधिकारियों को बनाया यात्रा मजिस्ट्रेट
सपा और कांग्रेस का गठबंधन कहता है कि जीतेंगे तो लूटेंगे, हारेंगे तो टूटेंगे – मुख्यमंत्री योगी

महिला मंच ने डी.जी. पी. और मुख्य सचिव को लिखा शिकायती पत्र, जानें क्या है मामला

देहरादून। उत्तराखंड की महिला मंच ने शुक्रवार को डी.जी. पी. और मुख्य सचिव को एक शिकायती पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंनें हल्द्वानी से 13 महिलाओं को पुलिस द्वारा हिरासत में जानें को लेकर कई सवाल उठाए है। महिला मंच ने पत्र लिखकर गिरफ्तार महिलाओं पर लगाए गए आरोपों के बारें में जानकारी मांगी है क्योंकि अभी तक महिलाओं के परिजनों को भी इस बात की जानकारी नही है कि आखिर उनके घर की महिलाओं को गिरफ्तार क्यों किया गया है।

महिला मंच ने पत्र में लिखा, “जैसा की हमारी जानकारी में आया है कि कल बनभूलपुरा हल्द्वानी से 13 महिलाओं को पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया है। जिन के नाम व उन्हें क्यों गिरफ्तार किया गया है, इस की जानकारी अभी तक उनके परिजनों को भी स्पष्ठ नहीं हो पाई है।”
“एक महिला संगठन होने के नाते हमारा आप से निवेदन है कि पुलिस प्रशासन द्वारा हिरासत में ली गई महिलाओं को तत्काल छोड़ा जाय। महिलाओं को पूछताछ के बहाने थाने में रखना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। यह अत्यंत आपत्ति जनक है कि जो महिलाएं पहले ही पुलिस की ज्यादती का शिकार हुई हैं, जिनके घरों में तोड़फोड़ की गई है, तथा उनके परिवार जनों को भी प्रताड़ित किया जा रहा है, उन्हीं महिलाओं को पुलिस जांच के बहाने हिरासत में रख रही है। ”

महिला मंच ने लिखा कि यह एक अति संवेदनशील मामला है अतः इसे गम्भीरता व संवेदन शीलता के साथ देखा जाय। महिला मंच ने आशंका जताई कि अगर समुदाय विशेष को लक्ष्य कर इस तरह की कार्रवाई की जा रही हैं जो सामाजिक शान्ति के लिए उचित नहीं है।

अंत में महिला मंच ने इस मामले में डी.जी. पी. और मुख्य सचिव से उचित कार्यवाही और सहयोग की अपेक्षा जताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top