Breaking News
अच्छी खबर :- देहरादून के बाद अब विकासनगर में भी खुला पराशर पेथोलॉजी एंड इमेजिंग सेेंटर
नैनीताल में उमड़ी पर्यटकों की भीड़, जगह- जगह लगा लंबा जाम, गुस्साए कारोबारियों ने शुरु किया प्रदर्शन 
पीएम मोदी अदाणी और अंबानी के लिए कर रहे काम – राहुल गांधी
सिनेमाघरों के बाद ओटीटी पर धमाल मचाएगी क्रू, नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई फिल्म
बीते 10 सालों में प्रधानमंत्री ने हर पल-हर क्षण देशवासियों को किया समर्पित – मुख्यमंत्री धामी
राजकोट में टीआरपी गेम जोन में लगी भीषण आग, 12 बच्चों समेत 27 लोगों की मौत
चारधाम यात्रा में विभिन्न व्यवसायियों ने 200 करोड़ से ज्यादा का किया कारोबार
दौडने के बाद जोड़ो में होता है दर्द? हो सकती हैं ये 5 गलतियां
हिमाचल में चल रही कांग्रेस की लहर- धीरेंद्र प्रताप

सीएम धामी ने चारधाम यात्रा की सारी व्यवस्था ठीक करने के दिए निर्देश 

हित धारकों से वार्ता कर समस्या का समाधान निकालें- सीएम

उत्तरकाशी डीएम ने यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा की

उत्तरकाशी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गढ़वाल कमिश्नर को कहा है कि वे चारधाम यात्रा की सारी व्यवस्था ठीक करें और सभी हित धारकों से वार्ता कर समस्या का समाधान निकालें। आयुक्त ने बताया कि जिले में चारधाम यात्रा सुव्यवस्थित व सुचारू रूप से संचालित हो रही है। गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में तीर्थयात्री सुव्यवस्थित तरीके के दर्शन कर रहे हैं। भीड प्रबंधन तथा ट्रैफिक के सुचारू संचालन हेतु यमुनोत्री मार्ग पर वाहनों को चिन्हित स्थानों पर कुछ समय के लिए रोकने के बाद नियंत्रित तरीके से आगे की यात्रा के लिए रवाना करवाया जा रहा है। जानकीचट्टी से यमुनोत्री के पैदल मार्ग पर भी श्रद्धालुओं की पैदल आवाजाही सुव्यस्थित और सुचारू बनी हुई है।

गत दिन अक्षय तृतीया के पर्व से गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही बडी संख्या में श्रद्धालुजनों के आगमन सिलसिला शुरू हो गया है। जिसे देखते हुए प्रशासन एवं पुलिस के द्वारा भीड प्रबंधन तथा ट्रैफिक संचालन के लिए चरम यात्राकाल के दिवसों हेतु तय किए गए प्रबंध यात्रा के पहले दिन से ही लागू कर दिए हैं। यमुनोत्री धाम में बड़ी संख्या में यात्रियों के पहुँचने के कारण श्रद्धालुओं की सुरक्षा व सुविधा के लिए यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की आवाजाही को रेगुलेट करने के साथ ही जानकीच‌ट्टी से यमुनोत्री पैदल मार्ग पर डडी-कंडी व घोडे खच्चरों को रोटेशन के अनुसार चलाया जा रहा है।

इसके साथ ही यमुनोत्री पैदल मार्ग पर अत्यधिक भीड भाड वाले दिनों के लिए बनाये गए भंडेलीगाड के लगभग ढाई किमी लंबे वैकल्पिक वनमार्ग को भी पहले ही दिन से ही घोड़े-खच्चरों की एकतरफा जाने के लिए उपयोग में लाया गया है। इन प्रबंधों के चलते यमुनोत्री पैदल मार्ग श्रद्धालुओं की आवाजाही सुव्यवस्थित और सुचारू बनी हुई है। आज इस मार्ग पर जाम लगने जैसी कोई स्थिति पैदा नहीं हुई है। पुलिस के द्वारा यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर संकरे व संवेदनशील स्थानों पर गेट व वनवे सिस्टम से यातायात संचालित किया जा रहा है। इसके लिए डामटा, दोबाटा, पालीगाड, रानाचट्टी एवं फूलचट्टी में एक तरफ के वाहनों को कुछ समय के लिए रोकने के बाद नियंत्रित तरीके से आगे की यात्रा के लिए खाना करवाया जा रहा है।

जानकीचट्टी में नई पार्किंग के निर्माण एवं अतिक्रमण हटाए जाने के फलस्वरूप पार्किंग की व्यवस्था भी बेहतर हुई है। जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने एक बैठक लेकर यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा की औरअधिकारियों को यात्रा व्यवस्थाओं को चाक चौबंद बनाए रखने के साथ ही श्रद्धालुओं की सुरक्षा व सुविधा सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जाने की हिदायत दी है। उन्होंने कहा कि यमुनोत्री मार्ग पर सुविधाजनक स्थानों पर वाहनों को रोक कर नियंत्रित तरीके से आगे के लिए रवाना करवाए जाने से जाम की समस्या से निपटने में मदद मिल रही है और पैदल मार्ग पर भी आवाजाही को सुव्यस्थित व सुरक्षित बनाए रखने में सहूलियत होगी। लिहाजा सभी पक्षों को इन व्यवस्थाओं में पूरा सहयोग करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top