Breaking News
TERATAI PUTIH: Situs Judi Slot Online Gacor Rajanya Link Maxwin
सारे विरोधों को दरकिनार कर श्री बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति में अजेंद्र अजय लाये बदलाव की बयार
राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर की फिल्म स्त्री 2 का ट्रेलर रिलीज, डरते-डरते हंसने के लिए हो जाएं तैयार
अजबपुर फ्लाईओवर पर हुआ दर्दनाक हादसा, दो महिला पुलिसकर्मियों को बस ने मारी टक्कर 
राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सेनाध्यक्ष और नौसेना अध्यक्ष को परम विशिष्ट सेवा पदक से किया सम्मानित
विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूडी ने नयना देवी और कैंची धाम मंदिर में दर्शन कर की पूजा अर्चना
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के बयान पर संतों ने जताई आपत्ति, कहा – अनर्गल राजनीतिक बयान देना एक सन्यासी के लिए नहीं देता शोभा
राम मंदिर के पुजारियों के लिए ड्रेस कोड लागू, अब इन कपड़ो में आयेंगे नजर 
सटल मेकअप का सबसे आसान तरीका, इस ट्रिक से 5 मिनट में कंप्लीट करें लुक
उत्तराखण्ड में अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे स्वास्थ्य सेवाओं और योजनाओं का लाभ- सुरेश भट्ट

बद्रीनाथ हाईवे पर लामबगड़ के पास उफान में आया नाला, पांडुकेश्वर बैरियर पर रोका यातायात

सड़क से मलबा हटाने में जुटी जेसीबी 

राज्य में 125 से ज्यादा मार्ग बंद

चमोली। उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बारिश के बाद नदी नाले उफान पर हैं। गुरुवार शाम को तेज बारिश के बाद बद्रीनाथ हाईवे पर लामबगड़ के पास नाला उफान पर आ गया। इस दौरान पानी के साथ भारी मात्रा में मलबा बहकर भी सड़क पर आ गया। पानी ज्यादा बढ़ने पर प्रशासन ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए यातायात बदरीनाथ और पांडुकेश्वर बैरियर पर ही रोक दिया है। वहीं, अब जेसीबी सड़क से मलबा हटाने में जुटी है। बता दें कि बुधवार को भी बदरीनाथ हाईवे पर पागल नाला उफान पर आ गया था। जिससे सड़क पर भारी मात्रा में मलबा आ गया। इसके अलावा पीपलकोटी चाड़ा, मंगरीगाड और टंगणी पुल के पास भी सड़क मलबा आने के कारण बाधित हो गई थी। यहां अब रास्ते खुले हैं, लेकिन खतरा बरकरार है।

लोक निर्माण विभाग के अनुसार राज्य में 125 से ज्यादा मार्ग बंद हैं। 25 मार्ग दो जुलाई से बंद थे। लोक निर्माण विभाग ने बंद मार्गों को खोलने की कोशिश में जुटी रही, इसमें 87 मार्ग को खोल दिया गया है, अभी 63 मार्ग खोले जाने बाकी हैं। जो मार्ग बंद हैं, उसमें 47 ग्रामीण मार्ग हैं। इसके अलावा नौ राष्ट्रीय और राज्य मार्ग शामिल हैं, यह मार्ग पौड़ी, देहरादून, पिथौरागढ़, चंपावत, अल्मोड़ा और नैनीताल जिले के हैं। बंद मार्गाें को खोलने के लिए 64 जेसीबी कार्य कर रही हैं।
Back To Top