Monday, August 8, 2022
Home ख़बर विदेश चीन के युद्धाभ्यास से दुनिया भर में टेंशन, युद्ध हुआ तो आसान...

चीन के युद्धाभ्यास से दुनिया भर में टेंशन, युद्ध हुआ तो आसान नहीं होगी चीन की राह, जानिए क्या है वजह

नई दिल्ली। अमेरिकी स्पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद चीन और ताइवान में तनातनी युद्धस्तर पर पहुंच चुकी है। काउंसिल ऑन फॉरेन रिलेशन्स (सीएफआर) के अनुसार सैन्य हथियारों की दृष्टि से ताइवान अमेरिका के लिए बड़ा बाजार है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश से लेकर मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडन प्रशासन ताइवान को हथियार मुहैया कराने में पीछे नहीं है। अमेरिका ने बीते 16 वर्षों में ताइवान को पांच हजार करोड़ डॉलर से अधिक के हथियार मुहैया कराएं हैं। ऐसे में ये स्पष्ट है कि ताइवान चीन से युद्ध लड़ने के लिए पूरी तरह अमेरिकी हथियारों पर निर्भर है।

जब हथियारों की आपूर्ति पर बौखलाया चीन
अमेरिका ने इस वर्ष जुलाई 2022 में 10.8 करोड़ डॉलर का हथियार बेचने का करार किया था। चीन के रक्षा मंत्रालय को जब इसकी सूचना मिली तो वो बौखला उठा था। ड्रैगन ने अमेरिका से मांग की थी कि वो ताइवान को हथियारों की आपूर्ति बंद करे। विशेषज्ञों का मानना है कि ताइवान को अमेरिकी से मिलने वाली आधुनिक हथियारों की खेप से युद्ध के हालात में उसकी मुश्किल बढ़ सकती है। चीन नहीं चाहता कि ताइवान हथियारों से लैस हो सके। इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसआईपीआरआई) की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 1979 से 2020 तक ताइवान को मिले 77 फीसदी हथियार अमेरिका में निर्मित थे। इसी तरह वर्ष 2009 से 2017 के बीच पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में कुल 1400 करोड़ डॉलर के सैन्य हथियार ताइवान को अमेरिका ने मुहैया कराया था। वर्ष 2019 में अमेरिकी सरकार ने ताइवान को 800 करोड़ डॉलर में कुल 66 एफ-16 लड़ाकू विमान बेचने का करार किया था।

रूस-यूक्रेन के बीच तनानती को देख ताइवान की सरकार ने रक्षा बजट को लगभग दोगुना कर दिया था। जनवरी में जारी किए गए बजट में रक्षा बजट में 860 करोड़ डॉलर की बढ़ोतरी की थी। इसी के साथ कुल रक्षा बजट 1700 करोड़ डॉलर का हो गया है। रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो इस बजट से आधुनिक हथियारों की खरीदारी से लेकर नए हथियारों और मिसाइलों का निर्माण भी शामिल है। ताइवान अमेरिकी मदद से ड्रोन क्षेत्र में भी खुद को मजबूत कर रहा है। ताइवान खुद को मजबूत बनाने के लिए कई आधुनिक मिसाइलों पर काम कर रहा है जिनका निर्माण 2024-25 तक पूरा होने की संभावना है। निर्माणाधीन हसुइंग फेंग आईआईई क्रूज मिसाइल की क्षमता एक हजार से 1200 किलोमीटर तक है जो चीन के तटीय क्षेत्रों तक आसानी से हमला कर सकती है। ताइवान के रक्षा मंत्रालय के अनुसार अब तक 100 से अधिक हसुइंग मिसाइल का निर्माण पूरा हो चुका है। जल्द ही ये आंकड़ा 250 के करीब हो जाएगा।

RELATED ARTICLES

लहसुन के विज्ञापन में महिला ने कुछ ऐसा किया कि भड़के गये किसान, सेक्शुअल ऑब्जेक्ट की तरह पेश करने का आरोप

दक्षिण कोरिया। दक्षिण कोरिया से एक ऐसा विज्ञापन सामने आया जिस पर बवाल मच गया। यह सब तब हुआ जब एक महिला ने लहसुन...

अमेरिका ने चीन पर भड़काऊ, गैर जिम्मेदाराना कार्रवाई का लगाया आरोप

वाशिंगटन । ताइवान ने कहा है कि द्वीप पर चीन हमले का पूर्वाभ्यास कर रहा है। चीन की इस कार्रवाई को अमेरिका ने भडक़ाऊ...

चीन ने रची साजिश? होटल में मृत मिला ताइवान का सीनियर मिसाइल डेवलपमेंट अधिकारी

बीजिंग।  अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद चीन की लगातार बौखलाहट देखने को मिल रही है। यही वजह...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

हर घर तिरंगा अभियान के तहत गांधी पार्क देहरादून में किया गया कार्यक्रम का आयोजन

देहरादून।  76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, इसके साथ ही हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया...

लक्ष्य सेन डेब्यू पर ही बने कॉमनवेल्थ गेम्स चौंपियन, 3 गेम में जीता फाइनल, सीएम धामी ने स्वर्ण पदक जीतने पर दी बधाई

नई दिल्ली। भारत के युवा शटलर लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को पुरुष सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीत लिया है। बर्मिंघम में...

पूर्व आईएफएस किशनचंद सहित कई अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने दी अनुमति, जानिए क्या था पूरा मामला

देहरादून। पूर्व आईएफएस किशनचंद व अन्य अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने अनुमति दे दी है। कॉर्बेट पार्क में टाइगर सफारी बनने में अनियमितता...

उत्तराखंड में पैर पसार रहा कैंसर, दून अस्पताल में तीन तरह से होगा कैंसर का इलाज

देहरादून। देश में हर साल बड़ी संख्या में कैंसर से पीड़ित लोग अपनी जान गंवाते हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कैंसर के खिलाफ...

अवैध असलहा रखने के दोषी कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को एक साल कैद, मंत्री संजय निषाद पर भी लटकी कानून की तलवार

कानपुर। अवैध असलहा रखने में आर्म्स एक्ट के तहत दोषी करार दिए गए कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तृतीय आलोक...

CM धामी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से की भेंट, राज्य से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं पर की चर्चा

नई दिल्ली।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सङक परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से भेंट की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय...

रक्षाबंधन किस दिन मनाएं.? 11 या 12 अगस्त को.? तिथि को लेकर दूर करें कन्फ्यूजन, देखें किस दिन है शुभ मुहूर्त

भाई-बहनों के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन 2022 की सरकारी छुट्टी 11 अगस्त को है। इस बार रक्षाबंधन किस दिन है इसको लेकर लोगों के...

हम दो हमारे बारह को लोगों ने बताया इस्लामोफोबिक, डायरेक्टर की सफाई – बोले फिल्म देखेंगे तो खुशी होगी

हाल ही हम दो हमारे बारह नाम की एक फिल्म का पोस्टर रिलीज किया गया, जिस पर विवाद खड़ा हो गया है और सोशल...

जेल में मनेगी संजय राउत की जन्माष्टमी, जमीन घोटाला मामले में कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

मुंबई । मुंबई की एक विशेष अदालत ने शहर में एक चॉल के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोमवार...

11 अगस्त से पहले बिहार में खेला होने के संकेत, टूटने की कगार पर भाजपा और जेडीयू का गठबंधन, नीतीश ने बुलाई विधायकों की...

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्तीफा देते ही बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। एनडीए में ऑल...