Monday, August 8, 2022
Home घुम्मकड़ इंडिया रानीखेत में घूमने की जगह

रानीखेत में घूमने की जगह

रानीखेत के पर्यटन स्थल –  

  • साथियों आज हम आपको बताएँगे उत्तराखंड की एक बेहद ही खूबसूरत स्थान के बारे में और कहते हैं कि अगर आपने रानी खेत नहीं देखा तो भारत को नहीं देखा।रानीखेत अपने प्राकृतिक सौंदर्य की कहानी से प्रसिद्ध है।
  • उत्तराखंड में स्थित रानीखेत अपने शांत वातावरण और खूबसूरत दृश्यों के लिए प्रसिद्ध है ,कम भीड़ भाड़ और यहां का शांत वातावरण इस माहौल को खास बना देता है | यकीन मानिए यहां पहुंचने के बाद आप खुद को प्रकृति की गोद में पाएंगे रानीखेत की हंसी वादियों में देवदार के घने वन और हिमालय को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।
  • इस जगह के बारे में कहा जाता है कि कुमाऊं के राज्य सुधीर की पत्नी रानी पद्मिनी को यहां की सुंदरता इतनी पसंद आई कि उन्होंने यही रहने का फैसला कर लिया रानीखेत और इसके आसपास के इलाकों के कुमाऊं शासकों का शासन था।

रानीखेत का इतिहास – 

  • रानी खेत को ऊंचाई की दृष्टि से देखें तो वह समुद्र तल से 1869 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। ब्रिटिश राज में सन 1869 में अपने यहां हेडक्वार्टर खोले हुए थे जो कि उनके प्रयोग में आते थे।
  • रानीखेत की खोज कैसे हुई कहां जाता है कि रानी खेत की खोज राजा सुधीर की पत्नी पद्मिनी के द्वारा हुई | रानी यहां से निकल रही थी और यहां की सुंदरता देखकर रानी ने राजा के साथ यहां ठहरने का फैसला कर लिया रानी के इस फैसले पर राजा ने यहां का नाम रानीखेत रख लिया।

रानीखेत में घूमने लायक जगह – 

1. गोल्फ कोर्स रानीखेत –

  • गोल्फ कोर्स रानी खेत के सबसे प्रमुख स्थलों में से एक है | रानी खेत का यह गोल्फ ग्राउंड सेनानियों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र है | सुंदर यह गोल्फ मैदान पेड़ो से घिरा हुआ है और रानी खेत नगर से यह 5 किलोमीटर की दूरी पर है।
  • रानी खेत का यह जो गोल्फ कोर्स है गुलमर्ग के बाद एशिया का दूसरा सबसे बड़ा गोल्फ मैदान माना जाता है| सुंदर और मखमली घास से भरा यह गोल्फ मैदान हमारे देश के लोगों को ही नहीं बल्कि विदेशी लोगों को भी अपनी तरफ आकर्षित करता है |रानी खेत गोल्फ कोर्स मे 9 होल है | यह खिलाड़ियों के लिए सबसे आरामदायक स्थान है।  
  • रानीखेत का गोल्फ कोर्स काफी मशहूर है। यह गोल्फ कोर्स ‘उपट कालिका’ के नाम से प्रसिद्ध है। यहां आसपास चीड़ और देवदार के घने पेड़ हैं। उपट भारत के प्रमुख गोल्फ कोर्स में से एक है। उपट से कुछ किलोमीटर की दूरी पर स्थित कलिका गांव में देवी काली का प्रसिद्ध मंदिर भी है।

2. आशियाना पार्क रानी खेत – 

  • आशियाना पार्क रानी खेत शहर के बीच है |यह पार्क बच्चों के लिए बहुत अच्छे से डिजाइन किया गया है और यह पार्क रानीखेत के जंगल थीम पर बनाया गया है बच्चों के साथ-साथ बड़ों को यह पार्क बहुत पसंद आएगा।
  • इस पार्क को देवदार उदयन भी कहा जाता है | यहां विभिन्न तरह के आकर्षण हैं जो बच्चों के लिए बनाया गया है जैसे मैनीक्योर और हर्बल गार्डन आदी और कुछ विभिन्न आकर्षक हिमालय को दर्शाती है और यह पार्क हाई हिल्स पर डिज़ाइन किया गया है

3. कुमाऊँ रेजिमेंट संग्रहालय रानीखेत – 

  • इस म्यूजियम में प्रथम विश्व युद्ध के कारनामों के बारे में दिखाया जाता है यहां कई हथियार और सैनिकों के मेडल और पुरस्कार भी हैं जिन्हें आप देखकर आकर्षित होंगे और बच्चों को अपने देश के आर्मी के बारे में जानने का मौका मिलेगा।
  • यह म्यूजियम को 1970 में बनाया गया था और कुमाऊँ क्षेत्र की विरासत और उनके रीति-रिवाजों को देखते हुए प्रदर्शन के लिए बनाया गया था।
  • इस म्यूजियम की अंदर की चीजों को बहुत अच्छे से दर्शाया गया और अगर देखा जाए तो इस म्यूजियम की अंदर की कुछ ऐसी तस्वीरों जो काफी सालों से कुमाऊं रेजिमेंट को दर्शाती हैं।

एंट्री टिकट -10 Rs , टाइमिंग – 9:00 से 6:00

4. तारिखेत गांव रानीखेत – 

  • तारीखेत एक छोटा और प्रसिद्ध हिल स्टेशन है जो 8 किलोमीटर की दूरी पर है रानी खेत से , यह गांव काफी प्रसिद्ध है और जब हमें आज़ादी मिली थी उसके लिए काफी जाना जाता है यहां की मशहूर जगह गांधी कुटिया है जो हमें महात्मा गांधी के बारे में बताता है | 
  • यह जगह बहुत मशहूर है जब यहां फ़्रीडम स्ट्रगल हुआ था और यहां का प्रसिद्ध मंदिर टेम्पल ऑफ गोलू देवता है।यह विलेज काफी ठंडा है और यहां जाने के लिए मार्च से लेकर अक्टूबर तक जाना ठीक रहेगा।

5. कालिका मंदिर रानीखेत –

कालीका‌ मंदिर एक प्रसिद्ध मंदिर है जो हिंदुओं के लिए बनाया गया है और यह कुमाऊँ क्षेत्र के लोगों को दर्शाता है और उन बहादुर सैनिकों को भी दर्शाता है। कालीका मंदिर देवी काली को समर्पित है जिन्हें मदर ऑफ यूनिवर्स भी कहा जाता है | यह मंदिर 6 किलोमीटर की दूरी पर है | 

6. राम मंदिर रानीखेत – 

  • रानी खेत के प्रसिद्ध आकर्षणों में से एक चौबटिया गार्डन के पास और शहर के केंद्र से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है सीढ़ियों की चोटी से पहाड़ी की ओर जाती है जहां मंदिर स्थित है राम मंदिर में एक मठ है जहां छात्रों को कई प्रकार की शिक्षा दी जाती है जैसे कि वैदिक और गणित की और आदी अगर आप इन दी हुई शिक्षाऐं में रुचि रखते हैं तो आपको यहां जाने का मौका नहीं छोड़ना चाहिए।यह राम मंदिर हिंदुओं के भगवान राम को समर्पित है |प्रसिद्ध मंदिर झूला देवी मंदिर के पास स्थित है यहां पहुंचने के लिए आपको फ्लाइट से जाना होगा।

7. सनसेट पॉइंट्स रानीखेत – 

  • सनसेट प्वाइंट यानी सूर्यास्त स्थल रानीखेत में स्थित लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण हैं। यहां से आप सूर्यास्त और भव्य हिमालय की बर्फ से ढकी पर्वत मालाओं के आकर्षक दृश्यों के नजारे देख सकते हैं।

8. झूला देवी मंदिर रानीखेत – 

  • झूला देवी मंदिर एक प्राचीन मंदिर है जो 8 वी शताब्दी का मंदिर है जो चौबटिया के पास रानी खेत से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।रानी खेत के मुख्य पर्यटक स्थल में से एक झूला देवी मंदिर है जो देवी दुर्गा माता को समर्पित है और घंटियो के लिए प्रसिद्ध है। कुमाऊँ पहाड़ी पर स्थित प्रकृति की शांति के लिए यह मंदिर बनाया गया है। स्थानीय लोगों का मानना ​​है कि देवी दुर्गा घाटी के लोगों के रक्षक हैं। यह भी व्यापक रूप से माना जाता है कि जो कोई भी मंदिर की दीवार पर घंटी बांधता है, उसकी इच्छा के साथ उसकी इच्छा के अनुसार दिया जाता है।

9. स्वर्गाश्रम बिनसर महादेव मंदिर रानीखेत – 

  • 18 किलोमीटर की दूरी पर रानी खेत से बिन सर महादेव मंदिर हिंदुओं का प्रसिद्ध मंदिर है जो बीसोना रानी खेत के पास उत्तराखंड में स्थित है।मंदिर घने देवदार जंगलों से घिरा हुआ है और 2480 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।उत्तराखंड में सबसे अधिक देखे जाने वाले मंदिरों में से एक है बिन-सर महादेव मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और यह मंदिर 10 वीं शताब्दी में बनाया गया था।मंदिर में भगवान गणेश और देवी गौरी की मूर्तियां भी है।

 10. भालू डैम रानीखेत – 

  • भालू डैम रानीखेत के पर्यटक स्थल में से एक है | भालू डैम कृत्रिम रूप से बनाई गई एक झील है | यह 3 किलोमीटर की दूरी पर चौबटिया बाग के ठीक नीचे स्थित है| इस कृतिम झील का निर्माण 19 03 में ब्रिटिश सरकार द्वारा किया गया था | भालू डैम के पास एक छोटा सा गार्डन है जहां एक शांत वातावरण महसूस करेंगे |

रानी खेत में सबसे अच्छी बाहरी गतिविधियाँ क्या हैं – 

  • वॉटर राफ्टिंग
  • बंगी जंपिंग
  • द फ्लाइंग फॉक्स
  • ट्रैकिंग
  • कैंपिंग

बच्चों के साथ रानी खेत में सबसे लोकप्रिय चीजें क्या हैं –  

  • मशहूर जगह जो हम रानी खेत में बच्चों के साथ देख सकते हैं जैसे कि पहला झूला देवी मंदिर यहां पर हम बच्चों के साथ जाकर वहां की महानता के बारे में जान सकते हैं और आप पार्क जा सकते हैं जैसे कि आशियाना पार्क वह बच्चों के लिए काफी अच्छा पार्क है |वहां पर आप बच्चों के साथ खेल कूद और खाना पीना, टाइम स्पेंड कर सकते हैं और कई ऐसे मंदिर है जहां पर आप जहां बच्चों के साथ जाना पसंद कर सकते हैं जैसे कि बिनसर महादेव मंदिर ।

रानी खेत में गतिविधियाँ – 

दोस्तों के समूह में रानी खेत में ट्रेकिंग सबसे अच्छा हिस्सा है।आप चौबटिया बाग से होल्म फार्म तक अपनी ट्रेकिंग शुरू कर सकते हैं जो काफी लोकप्रिय है

रानीखेत फूड के बारे में – 

रानी खेत एक हिल स्टेशन है जहां आप ऐसी जगह जा सकते हैं जो खान पान के लिए काफी प्रसिद्ध है अगर देखा जाए तो एक छोटा सा हिल स्टेशन होने के कारण यहां पर खाने पीने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है पर हां यहां कुछ रेस्टोरेंट्स है आपको जो मिल जाएंगे जो सभी तरह के व्यंजन बनाते हैं।कुछ ऐसे फेमस रेस्टोरेंट जो रानी खेत में है

  • रानी खेत सराय
  • मयूर रेस्टोरेंट
  • नूठल रेस्टोरेंट
  • रिवर व्यू रेस्तरांट
  • रॉयल रिट्रीट
  • वेस्ट व्यू होटल

रानी खेत में खरीदारी – 

  • रानी खेत में खरीदारी एक असली मज़ा है क्योंकि यहाँ के बाज़ार दिलचस्प चीज़ों की भीड़ से भरे हुए हैं, जिन्हें आप वूलन से हस्तशिल्प और खाद्य पदार्थों में बदलते हुए नहीं देखना चाहेंगे। रानी खेत में सबसे लोकप्रिय खरीदारी की जगह मॉल रोड है जो पर्यटकों के बीच ट्वीड शॉल, जैकेट, शर्ट और कुर्ते जैसे ऊनी कपड़ों के लिए प्रसिद्ध है। अन्य खरीदारी गंतव्य सदर बाज़ार है जो सुंदर कढ़ाई वाले कपड़ों के लिए प्रसिद्ध है। ऊनी और कपड़ों के अलावा, कंडेस्ड मिल्क और चीनी से तैयार ।

रानीखेत कैसे पहुँचे – 

  • रानी खेत के निकटतम पंत नगर हवाई अड्डा, 119 किमी की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डे के परिसर से टैक्सी और टैक्सी आसानी से उपलब्ध हैं। दूसरी ओर, इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा 370 किमी की दूरी पर स्थित है और आठ घंटे की कार यात्रा के बाद पहुंचा जा सकता है।

हवाई मार्ग से रानी खेत कैसे पहुँचे – 

  • रानी खेत के लिए निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर हवाई अड्डा है जो 119 किमी की दूरी पर स्थित है। पंतनगर हवाई अड्डा विभिन्न शहरों और कस्बों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां से पर्यटक आश्चर्यजनक स्थान तक पहुंचने के लिए टैक्सी या टैक्सी लेंगे।

सड़क मार्ग से रानीखेत कैसे पहुंचे – 

  • रानी खेत भारत के उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के प्रमुख शहरों के साथ सड़कों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।काठगोदाम और अल्मोड़ा के लिए बसें आनंद विहार दिल्ली से ली जा सकती हैं।दिल्ली से रानी खेत की दूरी 360 किमी है।

ट्रेन से रानीखेत कैसे पहुँचे – 

  • काठगोदाम निकटतम रेलवे स्टेशन है जो रानी खेत से 80 किमी की दूरी पर स्थित है। काठगोदाम सभी प्रमुख शहरों और कस्बों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है ताकि लोग इस रेलवे स्टेशन पर और बाहरी स्टेशन से पहुँच सकें, लोग रानी खेत तक आसानी से पहुँचने के लिए टैक्सी या टैक्सी ले सकते हैं।
RELATED ARTICLES

भारत के सौर ऊर्जा क्षेत्र में अहम भूमिका निभा सकते हैं फ्लोटिंग सोलर

भारत का लक्ष्य इस साल के अंत तक 100 गीगावॉट सौर ऊर्जा का है, लेकिन फ्लोटिंग सोलर प्लांट्स इस लक्ष्य की योजना का हिस्सा...

नेपाल के एवरेस्ट में हिमालयी भेड़ियों की दहशत

रमेश बुशाल अप्रैल, 2022 की एक खूबसूरत सुबह थी। माउंट एवरेस्ट को उत्तर-पूर्वी नेपाल के नामचे में सागरमाथा (एवरेस्ट) राष्ट्रीय उद्यान कार्यालय से स्पष्ट रूप...

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक उत्तराखंड के प्रसिद्ध...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

हर घर तिरंगा अभियान के तहत गांधी पार्क देहरादून में किया गया कार्यक्रम का आयोजन

देहरादून।  76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, इसके साथ ही हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया...

लक्ष्य सेन डेब्यू पर ही बने कॉमनवेल्थ गेम्स चौंपियन, 3 गेम में जीता फाइनल, सीएम धामी ने स्वर्ण पदक जीतने पर दी बधाई

नई दिल्ली। भारत के युवा शटलर लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को पुरुष सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीत लिया है। बर्मिंघम में...

पूर्व आईएफएस किशनचंद सहित कई अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने दी अनुमति, जानिए क्या था पूरा मामला

देहरादून। पूर्व आईएफएस किशनचंद व अन्य अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने अनुमति दे दी है। कॉर्बेट पार्क में टाइगर सफारी बनने में अनियमितता...

उत्तराखंड में पैर पसार रहा कैंसर, दून अस्पताल में तीन तरह से होगा कैंसर का इलाज

देहरादून। देश में हर साल बड़ी संख्या में कैंसर से पीड़ित लोग अपनी जान गंवाते हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कैंसर के खिलाफ...

अवैध असलहा रखने के दोषी कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को एक साल कैद, मंत्री संजय निषाद पर भी लटकी कानून की तलवार

कानपुर। अवैध असलहा रखने में आर्म्स एक्ट के तहत दोषी करार दिए गए कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तृतीय आलोक...

CM धामी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से की भेंट, राज्य से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं पर की चर्चा

नई दिल्ली।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सङक परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से भेंट की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय...

रक्षाबंधन किस दिन मनाएं.? 11 या 12 अगस्त को.? तिथि को लेकर दूर करें कन्फ्यूजन, देखें किस दिन है शुभ मुहूर्त

भाई-बहनों के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन 2022 की सरकारी छुट्टी 11 अगस्त को है। इस बार रक्षाबंधन किस दिन है इसको लेकर लोगों के...

हम दो हमारे बारह को लोगों ने बताया इस्लामोफोबिक, डायरेक्टर की सफाई – बोले फिल्म देखेंगे तो खुशी होगी

हाल ही हम दो हमारे बारह नाम की एक फिल्म का पोस्टर रिलीज किया गया, जिस पर विवाद खड़ा हो गया है और सोशल...

जेल में मनेगी संजय राउत की जन्माष्टमी, जमीन घोटाला मामले में कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

मुंबई । मुंबई की एक विशेष अदालत ने शहर में एक चॉल के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोमवार...

11 अगस्त से पहले बिहार में खेला होने के संकेत, टूटने की कगार पर भाजपा और जेडीयू का गठबंधन, नीतीश ने बुलाई विधायकों की...

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्तीफा देते ही बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। एनडीए में ऑल...