Monday, August 8, 2022
Home घुम्मकड़ इंडिया चिदंबरम के प्रसिद्ध नटराज मंदिर घूमने की पूरी जानकारी

चिदंबरम के प्रसिद्ध नटराज मंदिर घूमने की पूरी जानकारी

नटराज मंदिर तमिलनाडु के चिदंबरम के बीच में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है। पांच पंचबूटों में से एक, नटराज मंदिर हिंदुओं के लिए गहरे धार्मिक महत्व का स्थान है जो प्रतिबर्ष हजारों श्रधालुयों को आकर्षित करता है। नटराज मंदिर भगवान शिव को समर्पित है, जिन्हें नटराज के रूप में पूजा जाता है। शहर के बीचों बीच में 40 एकड़ के परिसर में फैला नटराज मंदिर चोल वास्तुकला के सबसे सुंदर उदाहरणों में से एक है। बता दे भगवान शिव को समर्पित यह मंदिर केवल पांच उन स्थानों में से एक है जहां उन्हें एक लिंगम की बजाय एक मूर्ति के रूप में दर्शाया गया है। धार्मिक महत्व के अलावा, यह जगह यहाँ आने वाले श्र्धालुयों और पर्यटकों को शहर में और उसके आसपास दर्शनीय स्थलों की यात्रा और खरीदारी का एक उत्कृष्ट अवसर भी प्रदान करती है।

यदि आप भी नटराज मंदिर चिदंबरम की यात्रा को प्लान कर रहे है या फिर इस प्रसिद्ध मंदिर के बारे में जानने चाहते है तो आपको हमारे इस लेख को पूरा जरूर पढना चाहिए –

नटराज मंदिर का इतिहास –

नटराज मंदिर का इतिहास – History of Natraj Temple in Hindi

नटराज मंदिर भारत के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है इसके निर्माण की कोई सपष्ट तिथि अभी तक ज्ञात नही है लेकिन मंदिर की वास्तुकला 5 वीं शताब्दी के आसपास की है इस प्रकार कहा जाता है की नटराज मंदिर का निर्माण 5 वीं शताब्दी में चोल शासन कला के दौरान किया गया था। चिदंबरम के नृत्य देवता” का सबसे पहला उल्लेख अपार और सांभर द्वारा 6 वीं और 7 वीं शताब्दी के शुरुआती ग्रंथों में मिलता है।

नटराज मंदिर की वास्तुकला – 

यदि हम नटराज मंदिर की वास्तुकला पर नजर डालें तो यह मंदिर वास्तुशिल्प खजाना है जो अपनी विशाल दीवारों, कलात्मक नक्काशी और आकर्षक शिलालेखों के लिए प्रसिद्ध है। नटराज मंदिर की वास्तुकला लगभग 5 वीं शताब्दी के आसपास की है जो अन्य दक्षिण भारतीय मंदिरों से मिलती है। इस मंदिर में मुख्य देवता के साथ साथ देवी, विष्णु, सुब्रह्मण्यर, गणेश, नंदी और अन्य देवी देवतायों की मूर्ति भी स्थापित है। मंदिर में कई सभा हॉल भी हैं, जिन्हें दो प्रमुख मुर्गे कहा जाता है।

नटराज मंदिर के खुलने का समय – 

नटराज मंदिर के खुलने का समय – Timing of Natraj Temple in Hindi

यदि आप नटराज मंदिर के दर्शन के लिए जाने वाले है और नटराज मंदिर के खुलने और बंद होने के समय के बारे में जानना चाहते है, तो हम आपको बता दे नटराज मंदिर सुबह 6.00 बजे से लेकर शाम तक खुला रहता है इस दौरान आप कभी भी नटराज मंदिर के दर्शन के लिए आ सकते है।

नटराज मंदिर का प्रवेश शुल्क – 

बता दे नटराज मंदिर में प्रवेश और दर्शन के लिए कोई भी शुल्क नही है यहाँ आप बिना किसी प्रवेश शुल्क के घूम सकते है।

नटराज मंदिर के आसपास चिदंबरम में घूमने की जगहें – 

यदि आप नटराज मंदिर घूमने जाने का प्लान बना रहे है तो हम आपको बता दे की चिदंबरम में नटराज मंदिर के अलावा भी अन्य कई प्रसिद्ध मंदिर और पर्यटक स्थल मौजूद है जिन्हें आप अपनी यात्रा के दौरान घूमने जा सकते है –

  • शिवकामीमन मंदिर
  • चैथापरीनाथर मंदिर
  • काली मंदिर
  • थिलाई काली अम्मन मंदिर
  • पिचवारम मैंग्रोव वन

नटराज मंदिर चिदंबरम घूमने जाने का सबसे अच्छा समय –

नटराज मंदिर चिदंबरम घूमने जाने का सबसे अच्छा समय - Best time to visit Natraj Temple Chidambaram in Hindi

चिदंबरम बंगाल की खाड़ी के तट के पास स्थित है जो पूरे वर्ष में मध्यम जलवायु का अनुभव करता है। इसीलिए साल के किसी भी समय यहाँ घूमने जाया जा सकता है लेकिन फिर भी चिदंबरम जाने के लिए सर्दियों का मौसम सबसे अच्छा समय होता है। इस मौसम के अलावा भी मंदिर में पर्यटकों और श्रधालुयों की भीड़ लगी रहती है।

नटराज मंदिर चिदंबरम की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स – 

नटराज मंदिर चिदंबरम की यात्रा में रुकने के लिए होटल्स - Where To Stay Near Natraj Temple Chidambaram in Hindi

नटराज मंदिर और इसके आसपास के पर्यटन स्थलों पर घूमने के बाद यदि आप इसके आसपास किसी होटल की तलाश में हैं। तो हम आपको बता दें चिदंबरम में लो-बजट से लेकर हाई-बजट तक होटल्स, होमस्टे और लॉज उपलब्ध हैं। जिनको आप अपने बजट के अनुसार सिलेक्ट कर सकते है।

  • अरुधरा रेसीडेंसी (Arudhra Residency)
  • होटल सरधारम Hotel Saradharam
  • मीरा लॉज (Meera Lodge)
  • होटल जयराम (Hotel Jayaram)
  • बालासत्य होमस्टे (BalaSatya HomeStay)

नटराज मंदिर चिदंबरम केसे पहुचें – 

यदि आप नटराज मंदिर की यात्रा को प्लान कर रहे है और सर्च कर रहे है की हम नटराज मंदिर केसे पहुचें ? तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दे आप फ्लाइट, ट्रेन और बस में से किसी का भी चुनाव करके नटराज मंदिर चिदंबरम जा सकते है।

फ्लाइट से कालिका माता मंदिर केसे पहुचें – 

फ्लाइट से कालिका माता मंदिर केसे पहुचें – How To Reach Kalika Mata Temple By Flight in Hindi

नटराज मंदिर की यात्रा के लिए यदि आपने हवाई मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि पावागढ़ के लिए फ्लाइट से कोई डायरेक्ट कनेक्टिविटी नही हैं। नटराज मंदिर से लगभग 65 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पोंडिचेरी एयरपोर्ट मंदिर का सबसे नजदीकी घरलू हवाई अड्डा हैं। जबकि निकटतम इंटरनेशनल एयरपोर्ट चेन्नई एयरपोर्ट है जो चिदंबरम से लगभग 184 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

ट्रेन से नटराज मंदिर केसे पहुचें –

ट्रेन से नटराज मंदिर केसे पहुचें – How To Reach Natraj Temple By Train in Hindi

जिन पर्यटकों ने नटराज मंदिर की यात्रा के लिए ट्रेन से सफ़र करने के ऑप्शन को सिलेक्ट किया है हम उन्हें बता दे चिदंबरम का अपना रेलवे स्टेशन हैं जो चेन्नई, रामेश्वरम, तिरुपति, कुड्डालोर और मनमदुरई के साथ-साथ मयिलादुथुराई, कुड्डलोर, विल्लुपुरम, नागोर और बैंगलोर जैसे प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है। एक बार जब आप रेलवे स्टेशन पहुच जाते है तो यहाँ के स्थानीय साधनों की मदद से नटराज मंदिर पहुच जा सकते है ।

सड़क मार्ग से नटराज मंदिर केसे पहुचें – 

सड़क मार्ग से नटराज मंदिर केसे पहुचें – How To Reach Natraj Temple By Road in Hindi

नटराज मंदिर जाने के लिए यदि आपने सड़क मार्ग का चुनाव किया हैं तो हम आपको बता दें कि नटराज मंदिर चिदंबरम के माध्यम से सड़क मार्ग के माध्यम से आसपास के शहरो से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं। इसलिए आप बस के माध्यम से भी नटराज मंदिर आसानी से पहुँच सकते है। बस के अलावा आसपास के शहरों से आप सेल्फ ड्राइव या फिर एक टेक्सी किराये पर ले कर भी यहाँ आ सकते है।

RELATED ARTICLES

भारत के सौर ऊर्जा क्षेत्र में अहम भूमिका निभा सकते हैं फ्लोटिंग सोलर

भारत का लक्ष्य इस साल के अंत तक 100 गीगावॉट सौर ऊर्जा का है, लेकिन फ्लोटिंग सोलर प्लांट्स इस लक्ष्य की योजना का हिस्सा...

नेपाल के एवरेस्ट में हिमालयी भेड़ियों की दहशत

रमेश बुशाल अप्रैल, 2022 की एक खूबसूरत सुबह थी। माउंट एवरेस्ट को उत्तर-पूर्वी नेपाल के नामचे में सागरमाथा (एवरेस्ट) राष्ट्रीय उद्यान कार्यालय से स्पष्ट रूप...

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक उत्तराखंड के प्रसिद्ध...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

हर घर तिरंगा अभियान के तहत गांधी पार्क देहरादून में किया गया कार्यक्रम का आयोजन

देहरादून।  76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, इसके साथ ही हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया...

लक्ष्य सेन डेब्यू पर ही बने कॉमनवेल्थ गेम्स चौंपियन, 3 गेम में जीता फाइनल, सीएम धामी ने स्वर्ण पदक जीतने पर दी बधाई

नई दिल्ली। भारत के युवा शटलर लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को पुरुष सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीत लिया है। बर्मिंघम में...

पूर्व आईएफएस किशनचंद सहित कई अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने दी अनुमति, जानिए क्या था पूरा मामला

देहरादून। पूर्व आईएफएस किशनचंद व अन्य अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने अनुमति दे दी है। कॉर्बेट पार्क में टाइगर सफारी बनने में अनियमितता...

उत्तराखंड में पैर पसार रहा कैंसर, दून अस्पताल में तीन तरह से होगा कैंसर का इलाज

देहरादून। देश में हर साल बड़ी संख्या में कैंसर से पीड़ित लोग अपनी जान गंवाते हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कैंसर के खिलाफ...

अवैध असलहा रखने के दोषी कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को एक साल कैद, मंत्री संजय निषाद पर भी लटकी कानून की तलवार

कानपुर। अवैध असलहा रखने में आर्म्स एक्ट के तहत दोषी करार दिए गए कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तृतीय आलोक...

CM धामी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से की भेंट, राज्य से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं पर की चर्चा

नई दिल्ली।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सङक परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से भेंट की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय...

रक्षाबंधन किस दिन मनाएं.? 11 या 12 अगस्त को.? तिथि को लेकर दूर करें कन्फ्यूजन, देखें किस दिन है शुभ मुहूर्त

भाई-बहनों के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन 2022 की सरकारी छुट्टी 11 अगस्त को है। इस बार रक्षाबंधन किस दिन है इसको लेकर लोगों के...

हम दो हमारे बारह को लोगों ने बताया इस्लामोफोबिक, डायरेक्टर की सफाई – बोले फिल्म देखेंगे तो खुशी होगी

हाल ही हम दो हमारे बारह नाम की एक फिल्म का पोस्टर रिलीज किया गया, जिस पर विवाद खड़ा हो गया है और सोशल...

जेल में मनेगी संजय राउत की जन्माष्टमी, जमीन घोटाला मामले में कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

मुंबई । मुंबई की एक विशेष अदालत ने शहर में एक चॉल के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोमवार...

11 अगस्त से पहले बिहार में खेला होने के संकेत, टूटने की कगार पर भाजपा और जेडीयू का गठबंधन, नीतीश ने बुलाई विधायकों की...

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्तीफा देते ही बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। एनडीए में ऑल...