Monday, August 8, 2022
Home घुम्मकड़ इंडिया श्रीनगर के डल झील घूमने की जानकारी और पर्यटन स्थल

श्रीनगर के डल झील घूमने की जानकारी और पर्यटन स्थल

डल झील श्रीनगर का गहना मानी जाती है। 26 वर्ग किलोमीटर में फैली यह झील पृथ्वी पर स्वर्ग की तरह है। यह सुंदर हरे भरे पहाड़ों के बीच में स्थित है। शिकारा नाव की सवारी, हाउस बोट और झील के बाजार जैसी सुविधाएं इस जगह को पर्यटकों के बीच पसंदीदा बनाती हैं। श्रीनगर हमेशा गर्मियों में घूमने के लिए एक सुखद स्थान रहा है। इसलिए यह मुगलों और अंग्रेजों की पसंदीदा जगहों में से एक है। डल झील पर हाउस बोट का आनंद पर्यटक ले सकते हैं।

बता दें कि डल झील पर हाउस बोट की अवधारणा अंग्रेजों के दिमाग के उपज थी, जिसने पर्यटन को बढ़ावा दिया। जब कभी भी आप श्रीनगर की यात्रा करने की योजना बनाए तो अपनी लिस्ट में डल झील को सबसे पहले प्राथमिकता दें। क्योंकि यहां सबसे सुंदर और मन को लुभाने वाली अगर कोई झील है, तो वह है डल झील। आइए हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको डल झील श्रीनगर की यात्रा कराते हैं।

डल झील के बारे में सुनने के बाद मन में सबसे पहले यह ख्याल आता हैं कि डल झील कहाँ स्थित है? तो हम आपको बता दें कि डल लेक भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर में स्थित हैं। जोकि पर्यटक के लिहाज से एक खूबसूरत और रमणीय स्थल हैं।

2. डल झील में शिकारा मतलब क्या होता है –

डल झील में शिकारा मतलब क्या होता है

डल झील के आकर्षण में सबसे अधिक लौकप्रिय श्रीनगर में देखे जाने वाला शिकारा हैं। सांस्कृतिक प्रतीक के रूप में पहचान मिलने वाला यह शिकारा एक नाव हैं। जोकि दोनों सिरों पर नुकीली होती हैं और ऊपर से कैनोपी लगी होती हैं। शिकारा का उपयोग स्थानीय निवासी परिवाहन के रूप में करते हैं। शिकारा के  माध्यम से झील के किनारे सामानों को एक छोर से दूसरे छोर पर ले जाया जाता हैं। पर्यटक शिकारा की सवारी करके आनंदित महसूस करते हैं। यहां का झील बाजार खरीदारी के लिए मुख्य आकर्षण हैं और झील के बीचो-बीच कई दुकाने हैं। हाथ के बने झुमके, लकड़ी की कलाकृति और केसर यहां मिल जाते हैं।

3. डल झील में हाउसबोट्स क्या होती हैं

डल झील में हाउसबोट्स क्या होती हैं

डल झील में पानी के आकर्षण में हाउसबोट है स्थिर नौकाएं हैं। जोकि झील घूमने आने वाले पर्यटकों के लिए आवास के रूप में उपयोग की जाती हैं। हाउसबोट्स डल झील के मनोरम दृश्य के साथ-साथ झील के नजदीक के पहाड़ों के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करते है। लकड़ी की बनी यह जटिल नक्काशी और पुष्प की आकृति की होती हैं। पर्यटन विभाग द्वारा वर्गीकृत किए जाने वाली यह हाउसबोट्स एक साधारण कमरे के चक्कर से लेकर विशाल आलीशान सुइट्स तक हो सकते हैं। इनके अंदरूनी भाग को कश्मीरी क्रिस्टल झूमर, कालीन और आलीशान फर्नीचर के साथ सुंदर ढंग से सजाया जाता हैं। डल झील में स्थित हाउसबोट्स का सही मजा घर से पकाए गए स्वादिष्ट भोजन, वाई-फाई, गर्म टब जैसी सुविधा के लिए खास हैं।

4. श्रीनगर की डल झील क्यों है खास

डल झील के आसपास के पहाड़ों की सरस सुंदरता के साथ-साथ झील के पानी का तेज प्रवाह और उसकी आवाज देखने लायक होती हैं। डल लेक से सनराइज और सनसेट का नजारा मन्त्र मुग्ध कर देने वाला होता हैं। डल झील पर वीडियो बनाना और फोटोग्राफी करना लोगो का पसंदीदा गतिविधियों में से एक हैं।

5. डल लेक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय – Best Time To Visit Srinagar Dal Lake In Hindi

डल लेक घूमने जाने का सबसे अच्छा समय

डल झील घूमने के लिए सबसे अच्छा समय मई से लेकर नवम्वर महीने का माना जाता हैं। क्योंकि मानसून के मौसम में झील विकराल रूप देखने को मिलता हैं।

6. डल लेक खुलने और बंद होने का समय

डल झील पर्यटकों के लिए सुबह 6 बजे से शाम के 6 बजे (सूर्यादय से सूर्यास्त तक) तक खुली रहती हैं।

7. डल लेक का प्रवेश शुल्क – डल लेक का प्रवेश शुल्क

डल लेक में लगने वाली एंट्री फीस की जानकरी यथास्थान पहुंच कर ही पता चलेगा और हो सकता हैं पर्यटकों के लिए यह फ्री भी हो।

8. डल लेक के आसपास के प्रमुख पर्यटन और आकर्षण स्थल –

डल लेक जम्मू और कश्मीर के पर्यटन शहर श्रीनगर की गोद में स्थित हैं और यहां दूर-दूर से आने वाले सैलानियों के लिए कई सारे टूरिस्ट प्लेस हैं। तो आइयें हम हम आपको डल झील के नजदीकी पर्यटन स्थल के बारे में बताते हैं।

RELATED ARTICLES

भारत के सौर ऊर्जा क्षेत्र में अहम भूमिका निभा सकते हैं फ्लोटिंग सोलर

भारत का लक्ष्य इस साल के अंत तक 100 गीगावॉट सौर ऊर्जा का है, लेकिन फ्लोटिंग सोलर प्लांट्स इस लक्ष्य की योजना का हिस्सा...

नेपाल के एवरेस्ट में हिमालयी भेड़ियों की दहशत

रमेश बुशाल अप्रैल, 2022 की एक खूबसूरत सुबह थी। माउंट एवरेस्ट को उत्तर-पूर्वी नेपाल के नामचे में सागरमाथा (एवरेस्ट) राष्ट्रीय उद्यान कार्यालय से स्पष्ट रूप...

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक

सर्दियों के मौसम के लिए उत्तराखण्ड के खूबसूरत ट्रैक, साहसिक खेलों के शौकीनों के लिए पहली पसंद बन रहे हैं विंटर ट्रैक उत्तराखंड के प्रसिद्ध...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

हर घर तिरंगा अभियान के तहत गांधी पार्क देहरादून में किया गया कार्यक्रम का आयोजन

देहरादून।  76वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, इसके साथ ही हर घर तिरंगा अभियान भी चलाया...

लक्ष्य सेन डेब्यू पर ही बने कॉमनवेल्थ गेम्स चौंपियन, 3 गेम में जीता फाइनल, सीएम धामी ने स्वर्ण पदक जीतने पर दी बधाई

नई दिल्ली। भारत के युवा शटलर लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को पुरुष सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीत लिया है। बर्मिंघम में...

पूर्व आईएफएस किशनचंद सहित कई अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने दी अनुमति, जानिए क्या था पूरा मामला

देहरादून। पूर्व आईएफएस किशनचंद व अन्य अधिकारियों पर मुकदमे की शासन ने अनुमति दे दी है। कॉर्बेट पार्क में टाइगर सफारी बनने में अनियमितता...

उत्तराखंड में पैर पसार रहा कैंसर, दून अस्पताल में तीन तरह से होगा कैंसर का इलाज

देहरादून। देश में हर साल बड़ी संख्या में कैंसर से पीड़ित लोग अपनी जान गंवाते हैं। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कैंसर के खिलाफ...

अवैध असलहा रखने के दोषी कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को एक साल कैद, मंत्री संजय निषाद पर भी लटकी कानून की तलवार

कानपुर। अवैध असलहा रखने में आर्म्स एक्ट के तहत दोषी करार दिए गए कैबिनेट मंत्री राकेश सचान को अपर मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट तृतीय आलोक...

CM धामी ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से की भेंट, राज्य से संबंधित विभिन्न परियोजनाओं पर की चर्चा

नई दिल्ली।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय सङक परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से भेंट की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय...

रक्षाबंधन किस दिन मनाएं.? 11 या 12 अगस्त को.? तिथि को लेकर दूर करें कन्फ्यूजन, देखें किस दिन है शुभ मुहूर्त

भाई-बहनों के प्यार का त्योहार रक्षाबंधन 2022 की सरकारी छुट्टी 11 अगस्त को है। इस बार रक्षाबंधन किस दिन है इसको लेकर लोगों के...

हम दो हमारे बारह को लोगों ने बताया इस्लामोफोबिक, डायरेक्टर की सफाई – बोले फिल्म देखेंगे तो खुशी होगी

हाल ही हम दो हमारे बारह नाम की एक फिल्म का पोस्टर रिलीज किया गया, जिस पर विवाद खड़ा हो गया है और सोशल...

जेल में मनेगी संजय राउत की जन्माष्टमी, जमीन घोटाला मामले में कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

मुंबई । मुंबई की एक विशेष अदालत ने शहर में एक चॉल के पुनर्विकास में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सोमवार...

11 अगस्त से पहले बिहार में खेला होने के संकेत, टूटने की कगार पर भाजपा और जेडीयू का गठबंधन, नीतीश ने बुलाई विधायकों की...

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्तीफा देते ही बिहार की राजनीति में हलचल तेज हो गई है। एनडीए में ऑल...